50 plus Best सच्ची दोस्ती शायरी |Best friendship shayari

Spread the love

सच्ची दोस्ती शायरी, best friend shayari-Shayari ऐसी होनी चाहिए जो हमे और आपकों मन लुभावित करें।कुछ खास दोस्तो पर शायरी हम ढूढ़ने की कोशिश कभी न कभी जरूर करते हैं।दोस्ती प्यार एक अनमोल बंधन हैं जिसका बिना जीवन अधूरा सा लगता हैं।

एक अच्छा दोस्त जीवन में हमेशा होना चाहिए क्योंकि आपकी परेशानियों के समय वो जरूर काम आता हैं।खास दोस्त हमेशा खास होते हैं।वो आपके हर परेशानियों का निवारण करना जानते हैं।

सच्ची दोस्ती शायरी 2022|खूबसूरत दोस्ती शायरी

चलिये कुछ सच्ची दोस्ती शायरी शायरी देखते है जो आपकों और हमे बहुत ही ज्यादा पसंद आने वाले हैं।

वो दिल ही क्या जिसे मिलने की दुवा न करें

तुम्हे भूलकर जीयू ऐसा खुदा न करें,

रहे तेरी मेरी दोस्ती ज़िंदगी बनकर

वो बात और हो कि जिंदगी वफ़ा न करें।

Wo dil kya jise milne ki duwaa na kaare

Tumhe bhulkar jiyu aisakhuda na kare

Rahe teri  meri dosti zindagi bankar

Wo baat aur ho ki zindagi wafa na kare.

सच्ची दोस्ती शायरी

 

खुदा ने कहा दोस्ती न कर,

दोस्ती में तू खो जाएगा।

मैंने कहा ज़मीन में आकर मेरे दोस्त से तो मिल

तुभी उसपर फना हो जाएगा।

Khuda ne kaha dosti na kar

Dosti me tu kho jayega,

Maine kaha jamin me aakar mere dost se to mil

Tubhi uspar fana ho jayega.

 

ज़िंदगी हर पल खास नही होती,

फूलों की खुश्बू हमेशा पास नही होती,

मिलना हमारे तकदीर में था वरना

इतनी प्यारी दोस्ती इतेफाक नही होती।

Zindagi har pal khas nhi hoti,

Fulo ki khusbu hamesha paas nhi hoti

Milna hamare takdeer me tha warna

Itni pyari dosti itefak nhi hoti.

 

इसे भी पढ़ें

◆Husband wife relation shayari

◆2 line shayari on life

 

तेरी हरेक दर्द का एहसास है मुझको

तेरी दोस्ती पर नाज़ है मुझको

जीवन भर न बिछड़ेंगे हमदोनो दोस्त

कल से भी ज्यादा विश्वास आज है मुझको

Teri harek dard ka ehsas hai mujhko

Teri dosti par naaj hai mujhko

Jivan bhar na bichdenge humdono dost

Kal se bhi jyada vishwas aaj hai mujhko.

सच्ची दोस्ती शायरी

 

याद ऐसी करना जिसकी हद न हो,

विश्वास इतनी करना कभी शक न हो,

इंतज़ार इतना करो की कोई वक़्त न हो

दोस्ती ऐसी करना जिसमे नफरत न हो

Yaad aisi karna jiski hadh na ho

Vishwass itni karna kabhi shak na ho

Intezar itna karo ki koi waqt na ho

Dosti aisi karna jisme nafrat na ho

 

 

दोस्त कितना भी गंदा हो

उसे कभी मत छोड़ना यार

क्योंकि पानी कितना भी गंदा हो

आग बुझाने के काम आता हैं

Dost kitna bhi ganda ho

Use kabhi mat chodna yaar

Kyuki pani kitni bhi ganda ho।aag bujhane ke kaam aata hain

सच्ची दोस्ती शायरी
सच्ची दोस्ती शायरी

 

गम बहुत थे दिल में, पर जाहिर नही किया

आँखों में आँशु थे मगर किसी को दिखाया नही

इतना ही फर्क है मोहब्बत और यारो में

प्यार ने कभी हसाया नही और दोस्त ने कभी रुलाया नही।

Gam bahut tha dil me par jahir kiya nhi

Ankho me anshu the magar kisi ko dikhaya nhi

Itna hi fark hai mohabbat aur yaar me

Pyaar ne kabhi hasaya nhi aur dost ne kabhi rulaya nhi

 

गुजर जाते है वक़्त कुछ याद बनकर

महज बाते रह जाती है कहानी बनकर

मगर सच्चे यार तो दिल में बसते हैं

कभी होठो की मुस्कान बनकर

तो कभी आँखों के आँशु बनकर

Gujar jata hai waqt kuch yaade bankar

Mahaj baate rah jati hai kahani bankar

Magar sacche yaar to dil me baste hain

Kabhi hotho ki muskan bankar

Toh kabhi ankho ke anshu bankar

 

यदि तुम बेचो अपनी दोस्ती

तो पहले ग्राहक हम होंगे

तुम्हे अपनी कीमत पता नही होगी

पर तुम्हे पाकर सबसे खुशनसीब हम होंगे।

Yadi tum becho apni dosti

To pehle grahak hum honge

Tumhe apni kimat pta nhi hogi

Par tumhe paakar sabse khusnaseeb hum honge.

 

मुझे दर्द होगा तो सबसे पहले तू दौड़कर आएगा,

जताएगा नही औरों की तरह चुपचाप मरहम लगाएगा,

माना कि जिंदगी में रिश्ते है और भी

पर उनसब पे भारी  ये तेरी मेरी दोस्ती

Mujhe dard hoga toh sabse pehle tu daudkar aayega

Jatayega nhi auro ki tarah chupchap marham lagayega

Mana ki zindagi me rishtey hai aur bhi

Par unsab pe  bhari ye teri meri dosti

सबसे बेस्ट सच्ची दोस्ती शायरी|खूबसूरत दोस्ती शायरी 2021-22

लोग कहते है ज़मीन पर किसी को खुदा नही मिलता

शायद उन्हें दोस्त कोई तुमसा नही मिलता

किस्मत वालो को ही मिलती है पनाह किसी के दिल में

यू हर शख्स को तो जन्नत का पता नही मिलता

Log kahte hai zameen par kisi ko khuda nhi milta

Shayad unhe dost koi tumsa nhi milta

Kismat walo ko hi milti hai panah kisi ke dil me

Yu har shakhs ko to jannat ka pata nhi milta.

 

बोलती है दोस्ती, चुप रहता है प्यार

हँसाती है दोस्ती, रुलाता है प्यार

मिलाती है दोस्ती, जुदा करता है प्यार,

फिर भी लोग न जाने क्यों दोस्ती छोड़कर करते है प्यार

Bolti hai dosti ,chup rahta hai pyaar

Hasati hai dosti rulata hai pyaar

Milati hai dosti, juda karta hai pyaar

Fir bhi log na jane kyu dosti chodkar karte hai pyaar.

 

दोस्ती की महफ़िल सजे जमाना हो गया,

लगता है खुलकर जिए जमाना हो गया

कास कही मिल जाये वह काफिला दोस्तो का

अपनो से बिछड़े जमाना हो गया।

Dosto ki mahfil saje jamana ho gya

Lagta hai khulkar jiye jamana ho gya

Kaas kahi mil jaye wah kafila dosto ka

Apno se bichadkar jamana ho gya.

सच्ची दोस्ती शायरी
सच्ची दोस्ती शायरी

 

दोस्तों के कमी को पहचानते है हम

दुनिया के भी गमों को जानते है हम

तुम जैसे दोस्तो के ही सहारे

आज भी हँसकर जीना जानते है हम

Dosto ke kami ko pahchante hai hum

Duniya ke bhi gamo ko jante hai hum

Tum jaise dosto ke hi sahare

Aaj bhi haskar jina jante hai hum.

 

आँशु तेरी निकले तो आँख मेरी हो

दिल तेरा धड़के तो धड़कन मेरी हो

खुदा करे हमारी दोस्ती इतनी गहरी हो

के दोस्त तू बने और दोस्ती हमारी हो

Anshu teri nikale to ankh meri ho

Dil tera dhadke to dhadkan meri ho

Khuda kare hamari dosti itni gahri ho

Ke dost tu bane aur dosti hamari ho

 

हर एक मोड़ पर मुकाम नही होता,

दिल के रिश्ते का कोई नाम नही होता,

चिराग की रोशनी से ढूंढा है आपकों

आप जैसा दोस्त मिलना आसान नही होता।

Har mod par mukaam nhi hota

Dil ke rishtey ka koi naam nhi hota,

Chirag ki roshni se dhunda hai aapko

Chirag jaisa dost milna aasan nhi hota.

सच्ची दोस्ती शायरी
सच्ची दोस्ती शायरी

 

खुद पर भरोसा हो तो खुदा साथ हैं

अपने पे भरोसा है तो दुवा साथ हैं,

ज़िंदगी से हारना मत ए दोस्त

जमाना हो या न हो ये दोस्त तेरे साथ हैं

Khud par bharosa ho toh khuda sath hain

Apne pe bharosa hai to duwaa sath hain

Zindagi se harna nhi mat ae dost

Jamana ho ya na ho ye dost tere sath hain.

 

खता मत गिन दोस्ती में

की किसने क्या गुनाह किया

दोस्ती तो एक नशा हैं

जो तूने भी किया और मैंने भी किया

Khata mat gin dosti me

Ki kisne kya gunah kiya

Dosti toh ek nasha hai

Jo tune bhi kiya aur maine bhi kiya

सच्ची दोस्ती शायरी
सच्ची दोस्ती शायरी

 

हम दोस्ती निभाना जानते हैं

ज़ख्म कितना भी गहरा हो दवा जानते हैं

हमें भूलने की कोशिश न करना दोस्त

हम गले दबाना भी अच्छे से जानते हैं।

Hum dosti nibhana jante hain

Jakhm kitna bhi gahra ho dawa jante hain

Hame bhulne ki koshis na karna dost

Hum gale dabana bhi acche se jante hain

 

सबकी ज़िंदगी में खुशियां देने वाले दोस्त

तेरी ज़िंदगी में कोई गम न हो

तुझे तब मिलते रहे अच्छे अच्छे दोस्त

जब इस दुनिया में हम न हो

Sabki zindagi me khusiya dene wale dost

Teri zindagi me koi gam na ho

Tujhe tab milte rahe acche acche dost

Jab iss duniya me hum na ho

सच्ची दोस्ती शायरी
सच्ची दोस्ती शायरी

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *