20 most trending Nafrat shayari in 2021

Spread the love

Nafrat shayari;नफरत शायरी- आजकल के नौजवान शायरी सुनने के काफी शौकीन होते हैं।वो तरह तरह के शायरी को सुनते और अपने दोस्तो को सुनाते हैं।यदि आप  एक शायर की तरह शायरी के शौकीन है तो आप shortshayari से जुड़कर शायरी का मजा उठा सकते हो।

आज हम इस article में nafrat से related कुछ शायरी देखेंगे जो आपकों सुनने में मजा आएगा।

 

Nafrat shayari-नफरत शायरी

हम उनसे और वो हमसे जुदा हो गए।

आ गए वो मेरे जनाज़े में

तो सारे वादे वफ़ा हो गए

झुककर उन्होंने ने मेरी कब्र से कहा

आप तो सच मे हमसे खफा हो गए।

Hum unse aur wo hunse juda ho gaye.

Aa gaye wo mere janaze me

Toh saare wade wafa ho gaye.

Jhukkar unhone ne meri kabra se kaha

Aap toh sach me humse khafa ho gaye.

Nafrat shayari

 

कलम चलती है तो दिल की आवाज़ लिखता हूं

ग़म और जुदाई के अंदाज़ इ बयान लिखता हूँ।

रुकते नही है मेरे आँखों से आँशु।

मैं जब भी उसकी याद में शायरी लिखता हूँ।

Kalam chalti hai toh dil ki awaz likhta hoon

Gum aur judai ke anadaz i bayan likhta hoon.

Rukte nhi hain mere ankho se anshu.

Main jab bhi uski yaad me shayari likhta hoon.

 

तुम बात मत करो

किसी को चाहने की

जब औकात न हो

साथ निभाने की

Tum baat mat karo

Kisi ko chahne ki jab aukaat na ho

Sath nibhane ki

 

खुदा सलामत रखना उन्हें

जो हमसे नफरत करते हो।

प्यार न सही नफरत ही सही

कुछ तो है जो वो हमसे करते हैं।

Khud salamat rakhna unhe

Jo humse nafrat karte ho

Pyaar na sahi nafrat hi sahi

Kuch toh hain jo wo humse karte hain.

Nafrat shayari

 

नफरत करने वालो के सामने

रहने का एक अलग ही मजा है

वो हमसे जलना नही छोड़ते और हम उन्हें जा

Nafrat karne walo ke samne

Rehne ka ek alag hi maja hai

Wo hunse jalna nhi chodta aur hum unhe jalana.

 

जन्नत ए इश्क़ में हर बात अजीब होती हैं।

किसीको बेवफाई तो किसीको शायरी

नसीब होती हैं।

Jannat e। isqh me har baat ajeeb hoti hai

Kisiko bewafai toh kisiko shayari

Naseeb hoti hai.

 

जिसे खुद से नही फुरसते

जिसे खयाल है अपने कमाल का…

उसे क्या खबर मेंरे शौक की

उसे क्या पता मेरे हाल का…..

Jise khud se nhi fursate

Jise khayal hain apne kamal ka

Use kya khabar mere shauk ki

Use kya pata mere haal ka.

Nafrat shayari

 

तेरे प्यार की हिफाज़त

कुछ इस तरह से की हमने

जब किसी ने प्यार से देखा

तो नज़रे झुका ली हमने।

Tere pyaar ki hifazat

Kuch iss tarah se ki hamne

Jab kisi ne pyaar se dekha

Toh nazre jhuka li hamne.

 

हम उनसे और वो हमसे जुदा हो गए

आ गए वो मेरे जनाज़े में

तो सारे वादे वफ़ा हो गए।

झुककर उन्होंने मेरी कब्र से कहा

आप तो सच में हमसे खफा हो गए।

Hum unse aur wo humse juda ho gaye

Aa gaye wo mere janaze me

Toh सारे wade wafa ho gaye.

Jhukkar unhone meri kabra se kaha

Aap toh sach me humse khafa ho gaye.

 

आप की याद में सबकुछ भुलाए बैठे हैं

चिराग खुशियों के बुझाये बैठे हैं।

हम तो मरेंगे आप की बाहों में

ये भी मौत से शर्त लगाए बैठे हैं।

Aap ki yaad me sabkuch bhulaye baithe hain

Chirag khusiyo ke bujhaye baithe hain.

Hum toh marenge aap ki baaho me

Ye bhi maut se shart lagaye baithe hain.

Nafrat shayari

 

जख्म यू मिली है जिंदगी से..

की जीने की चाहत ही छूट गयी।

मौत आये या न आये क्या फर्क पड़ता हैं…

लगता है जीते जी मय्यत उठ गई।

Jakhm yu mili hain zindagi se

Ki jine ki chahat hi chut gayi

Maut aaye ya na aaye kya farq padta

Lagta hain jite ji mayyat uth gayi.

 

Nafrat shayari in hindi-नफरत शायरी

कोई अच्छा लगे तो प्यार मत करना

उसके लिए नींदे बेकार मत करना

दो दिन तो आएगी ख़ुशि से मिलने

तीसरे दिन कहेगी इंतज़ार मत करना।

Koi aacha lage toh pyaar mat karna

Uske liye neend bekar mat karna

Do din toh aayegi khusi se milne

Tisre din kahegi intezar mat karna.

 

हस्ते हुए चेहरे को आजमाया न करो

आंखों में जो सैलाब है उसे भड़काया मत करो

दूर चले गए तो दूर ही रहना

यू हर दफा अपना चेहरा दिखाकर तड़पाया न करो।

Haste hue chehre ko aajmaya na karo

Ankho me jo sailab hai use bhadkaya mat karo

Dur chale gaye to dur hi rehna

Yu har dafa apna chehra dikhakar tadpaya na karo.

 

मरजाओ तो किसी दिन माफ कर देना

शायद मौका न मिले अलविदा कहने का

यही सोच कर गुजारिश कर रहा हूँ।

मेरी शिकायते अपने दिलो से रिहा कर देना।

Mar jao  toh kisi din maaf kar dena

Shayad mauka na mile alvida kahne ka

Yahi soch kar guzarish kar rha hoon.

Meri shikayate apne dilo se riha kar raha hoon.

 

शायरों की मिज़ाज़ की सिर्फ यही कहानी हैं

टूटे दिलवालों की आँखों में पानी हैं।

और जो मुस्कुरा गया दर्द को सह कर

उस शायर के अल्फ़ाज़ से तो मौत ही आनी हैं।

Shayaro ki mizaz ki sirf yahi kahani hain

Tute dilwalo ki aankho me pani hain.

Aur jo muskura gya dard ko sahkar

Us shayar ke alfaz se toh maut hi aani hain.

इसे भी पढ़ें

मोहब्बत शायरी

Breakup शायरी


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *