Maa par shayari hindi|माँ पर शायरी

Spread the love

Maa par shayari hindi“इस बदलती दुनिया में हम सबकुछ भूला बैठे है।लोग एक दूसरे की इज्जत करना छोड़ दिये हैं।एक माँ ही है जो हमेशा अपने बच्चे के बारे में सोचती हैं।यदि माँ की बात करे तो वो हमेशा ही अपने बच्चे के बारे में सोचती हैं।

माँ की एहमियत आपको पता हो तो आप जरूर एकबार सोचना की माँ क्यों एक अनमोल चीज़ हैं।माँ ही है जो हमारे खाने से लेकर हमारे हर चीज़ का ध्यान रखती हैं।

चलिये माँ से related कुछ महत्वपूर्ण शायरी देखेंगे।

Maa par shayari hindi|माँ पर शायरी

वह माँ ही हैं जिसके रहते

ज़िंदगी में कोई गम नही होता

दुनिया साथ दे या ना दे पर

माँ का प्यार कभी कम नही होता।

Wah maa hi hai jiske rahte

Zindagi me koi gam nhi hota

Duniya sath de ya na de par

Maa ka pyaar kabhi kam nhi hota.

Maa par shayari hindi

किसी भी मुश्किल का अब

किसी को हल नही मिलता

शायद अब घर से कोई माँ के

पैर छूकर नही निकलता।

Kisi bhi mushkil ka ab

Kisi ko hal nhi milta

Shayad ab ghar se koi maa ke

Per chukar nhi nikalta

 

घर चाहे अपना ही क्यों न हो

बेघर सा लगता हैं

जो माँ न हो घर पर

तो आज भी डर सा लगता हैं।

Ghar chahe apna hi kyu na ho

Beghar sa lagta hain

Jo maa na ho ghar par

Toh aaj bhi dar sa lagta hain.

 

माँ एक अटूट सा बंधन हैं

बेख़ुसबु सी दुनिया का चंदन हैं

माँ तू मेरे मन का वो ख्वाब हैं।

जिस पल न देखु वो पल ही बेखवाब सा हैं।

Maa ek atut saa bandhan hain

Bekhusbu si duniya ka chandan hain

Maa tu mere maan ka wo khwaab hain

Jis pal na dekhu wo pal hi bekhwab sa hain.

 

प्यार का एहसास है वो

मेरे दिल के बहुत पास है वो

मेरे ज़िंदगी मे बहुत खास है वो

कोई और नही मेरी माँ है वो

Pyaar ka ehsaas hai wo

Mere dil ke bahut paas hai wo

Mere zindagi me bahut khas hai wo

Koi aur nhi meri maa। hai wo

 

यू ही नही गूंजती किलकरिया

घर आंगन के कोने में

जान हथेली पर रखनी पड़ती हैं

माँ को माँ होने में

Yu hi nhi gunjati kilkariya

Ghar aangan ke kone me

Jaan hatheli par rakhni padti hain

Maa ko maa hone me.

 

है खुदा तू लेले मेरी दौलत

मुझे फ़क़ीर बना दे

बस मेरी हथेली पर

माँ की लकीर बना दे।

Hain khuda tu lele meri daulat

Mujhe fakir bana de

Bas meri hatheli par

Maa ki lakir bana de.

Maa par shayari hindi|माँ पर शायरी

कोई दुआ असर नही करती

जब तक वो हमपर नज़र नही रखती

हम उसकी खबर रखें न रखे

वो हमें कभी बेखबर नही रखती।|

Koi dua asar nhi karti

Jab uski khabar rakhe na rakhe.

Hum uski khabar rakhe na rakhe

Wo hame kabhi bekhabar nhi rakhti.

 

ये दुनिया है तेज धूप

पर वो तो बस छाव होती हैं

स्नेह से सजी

ममता से भरी ,माँ तो बस माँ होती हैं।

Ye duniya hain tej dhup

Par wo to bas chav hoti hain

Sneh se saji

Mamta se bhari maa to bas maa hoti hain.

 

सर पर जो हाथ फेरे तो हिम्मत मिल जाये

माँ एकबार मुस्कुरा दे जन्नत मिल जाए।

Sar par jo hath fere to himmat mil jaye

Maa ekbaar muskura de  jannat mil jaye.

 

जिसके होने से मैं खुद को मुक्कमल मानता हूँ

मेरे रब के बाद मैं बस अपनी माँ को जानता हूँ।

Jiske hone se main khud ko mukaamal maanta hoon

Mere rab ke baad main bas apni maa ko janta hoon.

 

अपनी आंचल में बांध

पूरी दुनिया दिखाती हैं

बहुत दर्द सहती हैं

जो सिर्फ माँ कहलाती हैं।

Apni anchal me bandh

Puri duniya dikhaati hai

Bahut dard sahti hain

Jo sirf maa kahlati hain.

 

कोई उमंग कोई खुशि उसके बिना

किसी जगह या सफर में नही होती

जाने क्यों ये घर मुझे घर नही लगता

जब भी माँ घर में नही होती।

Koi umang koi khusi uske bina

Kisi jagah ya safar me nhi hoti

Jane kyu ye ghar mujhe ghar nhi lagta

Jab bhi maa ghar me nhi hoti.

 

फिसल रही थी जब उंगलिया

तब तूने हाथ थामा था माँ

जानकर भी कई लोग अनजान रहे

न जानते हुए भी तूने सब जाना माँ

Fisal rahi thi jab ungaliya

Tab tune hath thama tha maa

Jankar bhi kayi log anjaan rahe

Na jante hua bhi tune sab jana म

 

इसे भी पढ़े

Breakup shayari for gf

Husband wife relation shayari


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *